टैग्स » ताजमहल

फैमिली के साथ ताजमहल देखने पहुंचे कनाडा के पीएम, यूं खिंचाई तस्वीरें

NEWS IN HINDI

फैमिली के साथ ताजमहल देखने पहुंचे कनाडा के पीएम, यूं खिंचाई तस्वीरें

नई दिल्ली। आठ दिनों की भारत यात्रा पर आए कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो रविवार को ताजमहल देखने पहुंचे। इस दौरान उनके साथ पत्नी सोफी ग्रेगोरे, बेटी एला ग्रेस, बेटे हैड्रियन और जेवियर भी साथ थे। पीएम नरेंद्र मोदी के आमंत्रण पर जस्टिन ट्रूडो शनिवार को भारत पहुंचे। ताजमहल घूमने के दौरान पीएम बेहद सजे दिखे। एक वीडियो में उन्हें अपने बेटे को हवा में उछालकर कैच करते भी देखा गया है। आपको बता दें कि भारत दौरे में वह अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी के साथ रक्षा, आतंकवाद से निपटने में सहयोग सहित कई मुद्दों पर बातचीत करेंगे। 334 और  शब्द

नई दिल्ली

ताज के साए में गूंजेगा जय श्रीराम... मुगलिया अंदाज के बदले राम पर आधारित होगा महोत्सव

NEWS IN HINDI

ताज के साए में गूंजेगा जय श्रीराम… मुगलिया अंदाज के बदले राम पर आधारित होगा महोत्सव

उत्तरप्रदेश। आगरा योगी आदित्यनाथ के राज में उत्तर प्रदेश की सरकारी इमारतों के भगवाकरण के बाद अब ताज महोत्सव पर भी सूबे की सत्ताधारी पार्टी के एजेंडे की छाप दिखाई देगी। योगी राज में पहली बार हो रहे वार्षिक ताज महोत्सव की थीम बदल दी गई है। ताज महोत्सव इस बार भगवान राम के नाम पर आयोजित किया जा रहा है। ढाई दशक से हर साल आयोजित होने वाले ताज महोत्सव में हमेशा मुगल काल की झलक दिखाई देती रही है, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। फिलहाल, यूपी में बीजेपी की सत्ता है और सूबे की कमान योगी आदित्यनाथ के हाथों में है। ऐसे में मुगलिया अंदाज के बदले राम पर आधारित नृत्य नाटिका से ताज महोत्सव का आगाज होगा। 320 और  शब्द

उत्तरप्रदेश

भारत में ऐतिहासिक एवं दर्शनीय स्थल

G. K
🎀🎀🎀🎀🎀🎀🎀🎀🎀

*भारत के ऐतिहासिक एवं दर्शनीय स्थल:-*

~~—–~~—–~~—–~~—–~~

🏛अमरनाथ गुफा➖काश्मीर

🏛सूर्य मन्दिर (ब्लैक पगोडा)➖ कोणार्क

🏛वृहदेश्वर मन्दिर➖तन्जौर

🏛दिलवाड़ा मन्दिर, माउंट आबू

🏛आमेर दुर्ग➖जयपुर

🏛इमामबाड़ा➖ लखनऊ

🏛वृन्दावन गार्डन➖मैसूर

🏛चिल्का झील➖ओड़ीसा

🏛अजन्ता की गुफाएँ➖औरंगाबाद

🏛मालाबार हिल्स➖ मुम्बई

🏛गोमतेश्वर मन्दिर श्रवणबेलगोला➖ कर्नाटक

🏛बुलन्द दरवाजा➖ फतेहपुर सीकरी

🏛अकबर का मकबरा➖सिकन्दरा, आगरा

🏛जोग प्रपात➖मैसूर

🏛शान्ति निकेतन➖ कोलकाता

🏛रणथम्भौर का किला➖सवाई माधोपुर

🏛आगा खां पैलेस➖पुणे

🏛महाकाल का मन्दिर➖उज्जैन

🏛कुतुबमीनार➖दिल्ली

🏛एलिफैंटा की गुफाएँ➖ मुम्बई

🏛ताजमहल➖ आगरा

🏛इण्डिया गेट➖ दिल्ली

🏛विश्वनाथ मन्दिर➖वाराणसी

🏛साँची का स्तूप➖भोपाल

🏛निशात बाग➖श्रीनगर

🏛मीनाक्षी मन्दिर➖मदुरै

🏠स्वर्ण मन्दिर➖अमृतसर

🏠एलोरा की गुफाएँ➖औरंगाबाद

🏠हवामहल➖जयपुर

🏠जंतर-मंतर➖दिल्ली,जयपुर

🏠शेरशाह का मकबरा➖ सासाराम

🏠एतमातुद्दौला➖आगरा

🏠सारनाथ➖ वाराणसी के समीप

🏠नटराज मन्दिर➖ चेन्नई

🏠जामा मस्जिद➖ दिल्ली

🏠जगन्नाथ मन्दिर➖ पुरी

🏠गोलघर➖ पटना

🏠विजय स्तम्भ➖चित्तौड़गढ़

🏠गोल गुम्बद➖बीजापुर

🏠गोलकोण्डा➖हैदराबाद

🏠गेटवे ऑफ इण्डिया➖ मुम्बई

🏠जलमन्दिर➖ पावापुरी

🏠बेलूर मठ➖ कोलकाता

🏠टावर ऑफ साइलेंस➖मुम्बई​​

सामान्य ज्ञान

(60) मुमताज़ महल

लेखक:- अरुण गुप्ता

सहदेव जी को अद्भुत वस्तुओं के संग्रह का बड़ा शौक है I ऐसी ढेर सारी वस्तुओं को उन्होंने घर के ड्राइंग रूम  में बने एक सुन्दर से शो केस में बड़े ही जतन से सम्हाल कर रखा हुआ है I जब तक वे  घर में रहते हैं इन वस्तुओं की देखभाल में ही व्यस्त रहते हैं I घर में किसी को भी इन वस्तुओं को छूने की इजाजत नहीं है I… 13 और  शब्द

हिंदी लघुकथा

इश्क रूहानी

बेशक,
कैद दी मुझे,
अपने ही अंश ने,
लाल पत्थरों,
और झरोंखों की,
तन्हाइयों,
के दरमियान,
तो क्या ?
मुहब्बत की थी,
बेपनाह मैंने तो,
इश्क मेरा,
उस रूह में,
क़ाबिज है पुरसकूँ,
गिला नहीं कोई,
इन बेड़ियों से मुझको,
मैंने रच दी है,
मुहब्बत की तवारीख,
एक नायाब निशानी देकर,
सोया है इश्क मेरा अब,
संग-ए-मरमर के,
हसीं आगोश में,
और तुम ?
मुंह पर तुमने,
पोत ली है कालिख
बरखुरदार मेरे,
जब भी जिक्र होगा,
मुहब्बत का,
अदब देंगे कद्रदान मुझको,
और दर्ज होगा,
नाम तुम्हारा
कुफ्र और बेगैरत से,
दगाबाजों में,
फख्र है मुझको,
अपनी पाक मुहब्बत पे,
नाज़ है,
इश्क़-ए-ताजमहल पर,
करता हूँ सजदा जिसका मैं,
सुबह और शाम,
हर रोज़,
इन दरो-दीवारों से,
जी रहा हूँ इस इश्क को,
अपनी रूह में भी मैं !

कविता

दुखांत

ताजमहल,
और नज़ारा,
कैद से,
शाहजहाँ-सी किस्मत,
किसको चाहिये,
भरपूर प्यार,
और निशानी मुहब्बत की,
…..फिर,
अँधेरे ही अँधेरे,
कालकोठरी,
तन्हाई,
एक दुखांत,
प्रेम-कथा.
….यह ताज है,
जी हां,
प्रेम का पर्याय.

–राजगोपाल सिंह वर्मा 

कविता

सच्चा इतिहास : ताजमहल नहीं 854 वर्ष पुराना भगवान शिवजी का मंदिर था ..

 सच्चा इतिहास : ताजमहल  नहीं 854 वर्ष पुराना भगवान शिवजी का मंदिर था ।

‘ताजमहल’
वास्तु मुसलमानों की नहीं, अपितु वह मूलतः #हिंदुओं की है । वहां इससे

षड्यंत्र