राष्ट्रीय राजधानी में चलती बस में 23 वर्षीय युवती के साथ मिलकर दुष्कर्म करने वालों को मृत्युदंड देने की मांग को लेकर पिछले 14 दिनों से अनशन करने वाले राजेश गंगवार को रविवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया। उत्तर प्रदेश के बरेली के रहने वाले 45 वर्षीय गंगवार 24 दिसम्बर को प्रदर्शन में शामिल होने दिल्ली आए थे और तभी से वह जंतर-मंतर पर अनशन कर रहे थे। स्वास्थ्य बिगड़ने पर रविवार को उन्हें राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया।

गंगवार के भाई राज राकेश ने बताया कि वह काफी कमजोर हो गए थे और बढ़ती ठंड ने भी उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर डाला। इस वजह से उन्हें तत्काल चिकित्सीय मदद की जरूरत थी। गंगवार ने 14 दिनों पहले जंतर मंतर के पास एक सड़क पर अपना अनशन शुरू किया था।

यहीं पर उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद के बाबू सिंह भी अनशन कर रहे हैं। बाबू सिंह ने कहा, “जब तक इस घटना में शामिल दोषियों को सजा नहीं दी जाती मैं अपना  अनशन जारी रखूंगा।” उन्होंने गंगवार के जल्द स्वस्थ होने की कामना की।

दोनों अनशनकारी हाड़ कंपा देने वाली ठंड के बावजूद अनशन जारी रखे हुए हैं। इन दोनों के अलावा दो और संगठन ‘भगत सिंह क्रांति सेना’ और ‘सिटिजन 4 फोर्सेज’ ने भी त्वरित अदालत की गठन की मांग को लेकर अनशन शुरू किया है।