टैग्स » Hindi Shayri

kabil-a-tarif Hunar tha mujh me cheejen jodne ka..
Pr na jane usne Dil mera Q aur kaise toda ..ki aaj tk na jod paya..© Dhruv Deepak 2015-2016.All Rights Reserved.

Dhr21v Deep1k

khwaish

Boond se bhi choti Ek khwaish palti hoon,

Raaton ko jag jag kar, ek neend palti hoon..

Aandhi ka jhonka, jo girana chahe,

Armano ki seeken, 57 more words

– बहोत दूर तक जायेगा धुवा
शर्त यह है की तरीके से जलाना चिराग को ।।

– तेरी यादो के तूफान मुझे हर रोज़ सताते है,
अब लगता हैं बुझना तय हो गया हैं ।।

– लम्हे भी खली से लगते है चहेरा तेरा अपना सा लगता हैं,
तुझे पा लिया पर अब तुझसे दूर होने का डर लगा रहेता है ।।

– मेरी मौत तो उसी दिन लिख दी थी ऊपर वाले ने जब मेने तुझे कहा था मुझे इश्क़ है तुझसे ।।

– में तुझे चूम लू चाहत सी होती है पास जो तू रहे राहत सी होती है,
सोचता हु कब तक रहेगी साथ मेरे क्योंकि सुना है तू कहा किसी की होती है।।

– अबतो मेरा भी हाल हुआ है कुछ नेपाल जैसा
दीखता अच्छा था तो दुनिया वालो ने तोडना ही चाहा ।।

– मेरी शायरी सुन कर सबको लगता है दर्द बहोत होंगे इसके दिलमे,
पर कहा पता है दुनिया को की एक दर्द ने ही खाख कर दिया इस “चिराग” को ।।

– चलना फिर से नयी शुरुआत करे,
तुम मुझसे मेरा नाम पूछो में तुम्हारा हाल पूछता हु।।

– यहाँ सस्ता प्यार था इसी लिए कर बैठे
पता नहीं था के यह भी सरकार के वादों की तरह जूठा निकलेगा ।।

– कलम पर तलवार अब भरी पढ़ने लगी है,
अब मेरी ओकात बढ़ने लगी है ।।

– में शांत हु रहने दो महेरबान
में जब भी बोलता हु लोग टुटसे जाते है मेरे दर्द को सुन कर ।।

– भगवांन करे अब दिल को थोडा रेस्ट हो,
क्योंकि जो भी सुनता है शायरी मेरी तो कहेता है चिराग बाई आप तो बेस्ट हो ।।

– रुक जाइये जनाब अभी पढ़ लिखने दो मुझे कीताब ए बेवफाई,
अगर बन गया वक़ील तो खेर नहीं बे-वफाओ की ।।

– तेरे दिल के निकाले हम कहा भटके कहा पहोंचे मगर जब पहोंचे तो याद आया की भटक ना भी जरुरी था,
दिल तोड़ कर चली गयी और मेने लिखी कई गजल तो कहने लगी वो तुझे शायर बनाना भी जरुरी था ।।

– बहोत खामोश है आज वो बे-वफ़ा
दिल जरा बचकर रहना अब नहीं बच पायेगा पहले की तराह ।।

– तुझसे मांगी थी एक ख़ुशी मेने तूने गम भी नहीं दिए अपने।

– जिंदगी को ढूंढने चले थे जिंदगी से ही दूर हो गए,
एक बार मूड कर देखो इस इंटरनेट की वजह से तुम अपनी दुनिया से दूर हो गए ।।

– आपसे मिलना सिर्फ बहाना था हमें तो तेरा वादा आज़माना था,
मरने की बात करना महज़ एक बहना था हमें तो तेरा प्यार आजमाना था ।।

– अपनी पलको पे सजा रखे थे के तूने आंसू भी छींन लिए,
मौत मिली और तूने तैयार हो गयी मेरी होने के लिए ।।

– आज की रात मेरी बात सुनले बहोत सी बाते मेरे होंटो ने भी छुपा राखी हैं ;|

– बहोत से ख्वाब टूटे है मेरी आँखों के,
एक बार इसको भी बरसात का मौका देदे

Hindi Shayri

Har Etwaar soye reh kr k guzarna chahta hu…..
Shayad bachpana kuch had tk mujhme ab v baki h…

Dhr21v Deep1k

Apni zindage se hara hu aur kismat ka mara hu
bs iseliye ab khafa khafa sa rehta hu
zuda zuda sa rehta hu…….
-Dhruv

Dhr21v Deep1k